गणेश अथर्वशीष के लाभ , गणपति अथर्वशीष के लाभ

!! श्री गणेशाय नमः !!

गणपति अथर्वशीष के लाभ  , गणेश अथर्वशीष के लाभ

बुद्धि व विद्या के दाता गणेशजी परमात्मा का विघ्ननाशक स्वरूप है।

प्रथम पूज्य भगवन श्री  गणेशजी समस्त विघ्न बाधाओं का नाश करने वाले देवता है

इन्ही को समर्पित एक वैदिक  प्रार्थना है गणपति  अथर्वशीष

हमारे सभी देवताओं में श्रीगणेश का महत्व सबसे विलक्षण है। अत: प्रत्येक कार्य के आरंभ में, किसी भी देवता की आराधना के पूर्व, किसी भी सत्कर्मानुष्ठान में, किसी भी उत्कृष्ट से उत्कृष्ट एवं साधारण से साधारण लौकिक कार्य में भी भगवान गणेश का स्मरण, अर्चन एवं वंदन किया जाता है।

गणेशोत्सव के 10 दिनों में गणेशजी की आराधना बहुत मंगलकारी मानी जाती है। उनके भक्त विभिन्न प्रकार से उनकी आराधना करते हैं। अनेक श्लोक, स्तोत्र, जाप द्वारा गणेशजी को मनाया जाता है। इनमें से गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ भी बहुत मंगलकारी है। प्रतिदिन प्रात: शुद्ध होकर इस पाठ करने से गणेशजी की कृपा अवश्य प्राप्त होती है।

  • अथर्वशीर्ष का कम से कम  एक पाठ नियमित करने से शरीर की आंतरिक शुद्धि होती है।
  • इससे शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।
  • गणपति अथर्वशीर्ष के पाठ से मानसिक शांति और मानसिक मजबूती मिलती है।
  •  स्थिर रहते हुए सटीक निर्णय लेने के काबिल बनता है।
  • शरीर में एक विशेष तरह की कांति पैदा होती है।
  • जीवन में स्थिरता आती है।
  • कार्यों में बेवजह आने वाली रूकावटें दूर होती हैं।

श्री गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ कैसे करें?

  • गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करने के लिए प्रतिदिन अपने पूजा स्थान या किसी शुद्ध स्थान पर स्नानादि करके शांत मन से बैठ जाएं।
  • रीढ़ एकदम सीधी रखते हुए बैठें और पाठ करें।
  • इसका पाठ करने के लिए किसी पूजा की आवश्यकता नहीं होती।
  • भगवान श्रीगणेश की प्रतिमा या फोटो सामने ना हो तो भी चलेगा।
  • इसका पाठ नियमित करना चाहिए, लेकिन प्रत्येक माह आने वाले विशेष दिन जैसे संकष्टी चतुर्थी के दिन शाम के समय 21 पाठ करना चाहिए।
  • गणपति अथर्वशीर्ष के पाठ के साथ यदि एक माला ऊं गं गणपतये नम: की जपी जाए तो और भी अधिक लाभदायक होता है।
  • इसका पाठ महिलाओं के लिए भी बहुत लाभदायक होता है लेकिन वे अपनी माहवारी के दौरान इसका पाठ ना करें।

 

 

निचे दिए गयी लिंक से गणपति अथर्वशीष का पाठ करे

https://tipsohk.com/?p=279&preview=true

 

 

 

 

 

note-  उपरोक्त दिया हुवा ब्लॉग सिर्फ जानकारी हेतु है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *